Friday 21 September 2018

Goa's Oldest Online News Portal

October 2013

Oct '13
08

समझ

समझा था, जिसे समझ चुके हैं, समझ उसी को न पाये हम । और समझें, ... READ

0 Comments

Oct '13
05

जुड़ते हैं कईं नाते, रोज़ यहाँ नये-नये ...

जुड़ते हैं कईं नाते, रोज़ यहाँ नये-नये । खुलते हैं दुनिया... READ

2 Comments